ख़बरें बदलते भारत की

अकिंत की शोकसभा से उठ कर चले गए दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल

29
29

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल सोमवार को मृतक अंकित सक्सेना के घरवालों से मिले। अल्पसंख्यक समुदाय की एक लड़की से प्रेम संबंधों की वजह से अंकित की कुछ दिन पहले हत्या कर दी गई थी। सीएम अंकित की याद में आयोजित शोकसभा में शामिल हुए और उन्होंने दिल्ली सरकार की ओर से हर मुमकिन मदद देने का एलान किया। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अंकित सक्सेना की शोकसभा में उनके परिजनों से मिलने पहुंचे हैं। वे परिवार वालों से बात करते हैं। तभी अंकित के परिवार का एक मेंबर उनसे मुआवजे की मांग करता है। मांग सुनते ही केजरीवाल उठकर खड़े हो जाते हैं और कहते हैं वे यहां राशि को लेकर कोई विवाद नहीं चाहते। परिजन अपनी बात कहते रहते हैं, लेकिन सीएम केजरीवाल बिना जवाब दिए शोकसभा से उठ कर चले जाते है।

केजरीवाल ने कहा कि उनकी सरकार अंकित के परिवार को पूरी मदद देने की अपनी जिम्मेदारी को लेकर कटिबद्ध है। केजरीवाल ने शोकसभा में कहा, “जब भी आपको जरूरत हो, मेरे पास आने में संकोच नहीं करें। मैं आपके साथ निजी तौर पर संपर्क में रहूंगा। हालांकि, केजरीवाल के धुर विरोधी और आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने एक वीडियो ट्वीट करके सीएम पर निशाना साधा है। वीडियो में एक शख्स पीछे से केजरीवाल जी सुनिए केजरीवाल जी सुनिए कहता हुआ सुनाई देता है। कपिल का दावा है कि यह शख्स अंकित के पिता हैं।

दिल्‍ली भाजपा अध्‍यक्ष मनोज तिवारी ने भी अंकित के परिवार को एक करोड़ रुपए का मुआवजा देने की मांग की। मनोज तिवारी ने कहा कि अगर दिल्ली सरकार एमएम खान की मौत पर एक करोड़ रुपए दे सकती है तो अंकित सक्सेना के परिवार वालों को क्यों नहीं। उन्‍होंने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार साम्प्रदायिक भेदभाव कर रही है।

In this article