ख़बरें बदलते भारत की

मक्का-मदीना में हुए बम ब्लास्ट पर आज होगी सुनवाई, स्वामी असीमानंद समेत कई लोग हैं आरोपी

208
208

हैदराबाद की प्रसिद्ध मक्का मस्जिद में 18 मई 2007 को हुए पाइप बम धमाके पर आज फैसला आना है। इस पाइप लाइन बम धमाके में जुमे की नमाज़ के दिन ईदगाह में हुए ब्लास्ट में 9 लोगों की मृत्यु हो गई थी और 58 लोग घायल हुए थे। इस मामले में स्वामी असीमानंद समेत बहुत से लोगों को आरोपी बना कर जेल में डाला गया था। बता दें एनआईए ने इस हादसे में अपनी जाँच पूरी कर ली है इसी साल मार्च में खबर आई थी कि स्वामी के खिलाफ की गई डिस्क्लोज़र रिपोर्ट कोर्ट से गायब हो गई है। इसके बाद काफी विरोध भी हुए लेकिन ठीक एक दिन बाद यह रिपोर्ट मिल गई थी।

इस ब्लास्ट के बाद 2007 में मस्जिद को सील कर हैदराबाद पुलिस ने काफी छानबीन की छानबीन में मिले सूत्रों और सबूतों को बाद में पूरे केस समेत पूरा मामला सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया गया। इसके बाद सीबीआई ने आरोप-पत्र कोर्ट में दाखिल किया जिसके बाद यह सारा फैसला एनआईए के पास भेज दिया गया। बता दें जिस दिन यह ब्लास्ट हुआ था तो काफी हड़कंप मच गया था जिसके बाद पुलिस ने भीड़ को रोकने के लिए हवाई फायरिंग भी की थी जिसमे कई और लोग भी मारे गए थे। इस घटना में 160 गवाहों के बयान दर्ज़ किए गए थे।

वहीं मामले के मुख्य आरोपी असीमानंद को पिछले साल अप्रैल में यह कहते हुए जमानत दी थी कि आप हैदराबाद और सिकंदराबाद छोड़ कर नहीं जा सकते। हाल ही में मामले की फाइल गुम हो जाने की खबर आई थी बाद में खुलासा हुआ कि यह फाइल सीबीआई के मुख्य जांचकर्ता राजेश बालाजी ने देखने के लिए मंगाए थे जिसे बाद में कोर्ट में पेश कर दिया गया था। इस मामले से जुड़े अब तक 54 गवाह मुकर चुके हैं इसमें डीआरडीओ के वैज्ञानिक वेंकेट राव भी शामिल है।

 

In this article