ख़बरें बदलते भारत की

मानसून सत्र : एनडीए के लिए अहम विधेयक राज्यसभा में पास कराना बड़ी चुनौती

148
148

राज्यसभा में अगले पांच दिनों के भीतर सरकार को महत्वपूर्ण विधेयकों को पारित कराने के लिए चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। एनआरसी के मुद्दे पर भी सदन में हंगामे के आसार हैं और राज्यसभा में पांच दिनों के भीतर विपक्ष एनआरसी के मुद्दे को गरमा सकता है। सांसदों की गिरफ्तारी के विरोध में तृणमूल विशेषाधिकार हनन के नोटिस को मंजूर करने के लिए दबाव डाल सकती है। ऐसे में राज्यसभा में अगले पांच दिनों के लिए सूचीबद्ध 30 विधेयकों के पारित होने में मुश्किल होगी। इसमें आठ ऐसे अहम विधेयक हैं, जो इसी सत्र में लोकसभा ने पारित किए हैं।

राज्यसभा सचिवालय के सूत्रों के मुताबिक मानसून सत्र में सोमवार से शुक्रवार तक कुल पांच दिन बचे हैं। इनमें शुक्रवार निजी विधेयकों का दिन होता है। ऐसे में चार दिन ही सदन के पास है। इन चार दिनों में सदन के सामान्य कामकाज के अलावा लोकसभा में इस सत्र में पारित हुए आठ विधेयकों को पारित करना है। जबकि दो विधेयक पहले से राज्यसभा में लंबित हैं, उन्हें भी सूचीबद्ध किया गया है। इनमें एक मोटर व्हीकल और एक दिव्यांगों से संबंधित विधेयक है।

राज्यसभा की कार्यसूची के अनुसार इन विधेयकों को पारित कराने के अलावा लोकसभा में अगले चार दिनों के दौरान पारित होने वाले कुछ और विधेयक को भी हाथ के हाथ पारित करना होगा। निचले सदन में कुल 16 विधेयक सूचीबद्ध हैं। इनमें से कई इसी सत्र में पास होने हैं। जैसे अनुसूचित जातियों एवं जनजातियों से संबंधित विधेयक में सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों को खत्म करने के लिए लाया जा रहा विधेयक। यह लोकसभा में पेश किया जा चुका है।

निरंजन कुमार

In this article