ख़बरें बदलते भारत की

राहुल गांधी की सुरक्षा में चूक, रोड शो के दौरान ‘धमाका’

116
116

मध्यप्रदेश के जबलपुर में शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की सुरक्षा में बड़ी चूक हुई. राहुल गांधी के रोड शो के दौरान एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया. जबलपुर में जिस वक्त राहुल गांधी रैली कर रहे थे, उस वक्त गुब्बारे आग की चपेट में आ गए और आग भड़क उठी. हालांकि राहत की बात यह रही कि इस हादसे में कोई घायल नहीं हुआ, लेकिन हादसा चौंकाने वाला था. हुआ यह कि राहुल गांधी की आरती उतारने के लिए कार्यकर्ता हाथ में आरती की थाली लिए उनके नज़दीक आने की कोशिश कर रहे था और दूसरे कार्यकर्ता के हाथ में ढेर सारे गैस से भरे गुब्बारे थे. गुब्बारे में हीलियम गैस भरा था. जब वह दोनों नज़दीक पहुंचे तो दीये की लौ से गुब्बारे में आग लग गई और वहां एक जोरदार धमाका हुआ. हालांकि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ, लेकिन थोड़ी देर के लिए सबकी सांसे थम गईं. जब धमाका हुआ तो राहुल गांधी सहित कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया भी सहम गए.आग के फौरन बाद पुलिसवाले अलर्ट होते दिखे और सभी को सुरक्षा घेरे के अंदर ले लिया गया, लेकिन उस वक्त कुछ देर के लिए अफ़रा-तफरी का माहौल बन गया. हालांकि इस घटना के बाद भी राहुल गांधी ने अपना आठ किलोमीटर लंबा रोड शो जारी रखा. पुलिस ने कोई मामला दर्ज नहीं किया है.

इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश की पवित्र नदी नर्मदा की पूजा-अर्चना करने के बाद अपना 8 किलोमीटर का रोड शो शुरू किया. जबलपुर के डुमना हवाई अड्डे पर विमान से पहुंचने के बाद राहुल हेलीकॉप्टर से नर्मदा नदी के तट स्थित उमा घाट गए और वहां पर ‘जय नर्मदे’ के नारों के बीच मां नर्मदा की आरती की. उमा घाट का नाम केंद्रीय मंत्री एवं मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के नाम पर रखा गया है. पूजा करने के बाद राहुल ने वहां मौजूद एक लड़की को उपहार दिया, जबकि उनके साथ चल रहे एक व्यक्ति ने उस लड़की को सम्मान स्वरूप एक लिफाफा दिया.

नर्मदा को पवित्र नदी माना जाता है और लाखों भक्त इसकी परिक्रमा करते हैं. कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह अपनी पत्नी के साथ कुछ महीने पहले इस नदी की परिक्रमा कर चुके हैं. इसके बाद राहुल ने अब्दुल हमीद चौक से रोड शो शुरू किया था. राहुल के रोड शो ने तीन विधानसभा क्षेत्रों जबलपुर पश्चिम, जबलपुर उत्तर-मध्य एवं जबलपुर पूर्व (अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित) को कवर किया. इनमें से वर्तमान में दो सीटें भाजपा एवं एक कांग्रेस के पास है.

In this article