ख़बरें बदलते भारत की

कठुआ रेप केस में लड़की के परिवार ने छोड़ा घर, जम्मू पठानकोट हाईवे पर कर रहे धरना प्रदर्शन

180
180

कठुआ में हुए 8 साल की बच्ची के साथ रेप और हत्या के बाद यह खबर काफी चर्चाओं में रही इसी के तहत बीती रात मान सिंह रोड से इंडिया गेट तक कांग्रेस द्वारा कैंडल मार्च निकला गया था लेकिन आज सुबह की बात लड़की के घर और उसके घर वालों की अलग ही बात बयां कर रही है दरसल लड़की का परिवार कठुआ से आधा किलोमीटर की चढाई के बाद ऊपर पहाड़ी रहता था बता दें लड़की का परिवार खानाबदोश जनजाति से सम्बन्ध रखता है यह सर्दियों में मैदानों और गर्मियों में पहाड़ों पर चले जाते हैं।

मीडिया ने जब लड़की के चाचा महुम्मद जान से बात की तो उन्होंने बताया कि बहुल इलाके में रह रहे हिन्दू परिवार का विवाद 4 मुस्लिम परिवारों से है लेकिन यह बात तब ज्यादा बढ़ गई जब हिन्दुओं ने मुसलमानो को बेचीं जमीन दोबारा मांग की ऐसे में उन्होंने दरिंदगी की हद पार कर लड़की के साथ जबरन नशे की दवाईंयां देकर रेप किया फिर उसे स्थानीय कब्रिस्तान में दफनाने भी नहीं दिया।

सीबीआई की रिपोर्ट के अनुसार इस सारी वारदात की मुख्य वजह बाकरवल समुदाय को यहां से निकलना था आरोपियों के परिवार न्याय की मांग करते हुए अपना घर बार त्याग कर जम्मू पठानकोट हाईवे पर धरना प्रदर्शन करने बैठे हैं। सीबीआई से हवाले से हुए खुलासे में सामने आया कि यह शाजिस सांझी राम, ने की थी हमने उसकी बेटी से बातचीत की तो पता चला कि पुलिस ने यह पूरा केस खराब कर दिया है जिसमे कुछ निर्दोष लोगों को झूठे तरीके से गिरफ्तार किया गया है वहीं जम्मू कश्मीर एशोसिएशन भी मामले के साफ जाँच की मांग कर रही है।

In this article