ख़बरें बदलते भारत की

SC के जस्टिस खानविलकर ने बफोर्स मामले से खुद को अलग किया

32
32

CBI ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि इस मामले में उन्होंने हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती दी है हालांकि अभी याचिका रिजिस्ट्री में लंबित है। CBI ने कहा कि याचिका अभी डिफेक्ट में है। पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने भाजपा नेता अजय अग्रवाल से पूछा था कि किस हैसियत से उन्होंने बोफोर्स तोप सौदा मामले को निरस्त करने के दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी है? साथ ही शीर्ष अदालत ने पूछा है कि आखिरकार इस मामले में उन्हें क्यों सुना जाना चाहिए।

दिल्ली उच्च न्यायालय ने 31 मई 2005 को फैसला सुनाते हुए मामले के सभी आरोपियों के खिलाफ सभी आरोप खारिज कर दिए थे। भाजपा नेता अजय अग्रवाल ने अदालत के इस आदेश को चुनौती देते हुए याचिका दायर की थी, जिसकी सुनवाई इस पीठ को करनी थी। आपको बता दें कि बोफोर्स घोटाले की जांच को एक बार फिर से शुरू करने के लिए सीबीआई ने सरकार से इजाजत मांगी है। सीबीआई के सूत्रों की मानें तो इस बाबत डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल ट्रेनिंग को बकायदा एक पत्र लिखा गया है। पत्र में कहा गया है गया है कि 2005 में यूपीए सरकार ने फैसला लिया था कि इस मामले की फिर से जांच नहीं की जाएगी और सुप्रीम कोर्ट में इस मामले में स्पेशल लीव पेटिशन दाखिल करने से रोका गया था।

In this article