ख़बरें बदलते भारत की

IPL 2018 FINAL: हैदरबाद को हरा चेन्नई ने पहना जीत का सेहरा

107
107

बीती रात चेन्नई और हैदराबाद के बीच हुए शानदार फाइनल के बाद चेन्नई ने अपनी जीत का डंका पूरे देश में पीट दिया ऐसे में जीत का सारा श्रेय महेंद्र सिंह धोनी को दिया जा रहा है। ऐसे में चेन्नई की जीत से पता चलता है कि धोनी की उम्र नहीं बल्कि फिटनेस जीत के लिए बड़ा मायने रखती है। चेन्नई ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर छह विकेट पर 178 रन बनाए। चेन्नई शेन वाटसन के नाबाद 117 की मदद से दो विकेट पर 181 रन बनाकर चैंपियन बना।

बता दें मैच खत्म बाद टीम में कितने बड़ी उम्र के खिलाड़ी हैं इस बात का मुद्दा उठाया गया। तो धोनी ने बताया कि उम्र चाहे कितनी भी हो फिटनेस मायने रखती है। अगर आप किसी भी टीम के कप्तान से पूछेंगे कि उसे केसा खिलाडी चाहिए तो वह हमेशा कहेगा कि युवा और चतुर किस्म का खिलाडी टीम में होना बहुत जरूरी था। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मैच के दौरान हम अपनी कमजोरियों से वाकिफ थे। अगर वाटसन डाइव लगाने की कोशिश करता तो वह चोटिल हो सकता था इसलिए हमने उसे ऐसा नहीं करने के लिए कहा। उम्र केवल नंबर है लेकिन आपको पूरी तरह फिट होना चाहिए।

धोनी ने बताया कि हम अगर फाइनल में पहुंचे और जीत हासिल में कामयाब रहे तो इसमें हमारी टीम का हरेक खिलाड़ी अपनी क्षमता और महत्वपूर्णता को अच्छे तरीके से जनता था। हमारे बल्लेबाज अपनी शैली से परिचित हैं। अगर किसी को यह मुश्किल लगती तो अगले बल्लेबाज के लिये भी आसान नहीं होता। उन्होंने कहा- हमें पता था कि उनकी टीम में भुवनेश्वर कुमार और राशिद खान दो अच्छे गेंदबाज हैं जो हम पर दबाव बना सकते हैं। इसलिए मैं मानता हूं कि हमारी बल्लेबाजी बहुत अच्छी रही। लेकिन हमें विश्वास था कि बीच के ओवरों में हम अच्छे रन जुटा सकते हैं।

In this article