ख़बरें बदलते भारत की

अगले साल फरवरी में, अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में कुलभूषण जाधव केस की सुनवाई होगी

275
275

जासूसी के आरोपों में पाकिस्‍तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) की अंतरराष्‍ट्रीय अदालत (ICJ) में 18 फरवरी से सुनवाई होगी. अंतरराष्ट्रीय अदालत की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि यह सुनवाई द हेग में 18 फरवरी से 21 फरवरी 2019 को होगी. बता दें कि पाकिस्तान की मिलिट्री अदालत ने कुलभूषण जाधव को कथित तौर पर जासूसी के आरोप पिछले साल अप्रैल में फांसी की सजा सुनाई थी. हालांकि भारत की तरफ से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस मामले को उठाने के बाद पाकिस्तान ने उनकी फांसी पर रोक लगा रखी है.

पाकिस्तान ने नई सरकार के गठन के बाद हाल ही में कहा था कि जाधव कोई साधारण व्यक्ति नहीं है, क्योंकि वह देश में जासूसी के इरादे से घुसा था और उसने बलूचिस्तान में कई गड़बड़ी वाली गतिविधियां की थीं. भारत ने हालांकि सभी आरोपों को नकार दिया था. पाकिस्तानी अधिकारियों के मुताबिक, जाधव को तीन मार्च, 2016 को अवैध रूप से ईरान के रास्ते पाकिस्तान में घुसने पर गिरफ्तार किया गया था, जबकि भारतीय अधिकारियों का कहना है कि जाधव का ईरान से अपहरण कर इच्छा के खिलाफ उसे पाकिस्तान ले जाया गया था.

बता दें कि अगस्त महीने में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव के मामले में नई सरकार कोई सख्त फैसला ले सकती है. उन्होंने जाधव को फांसी दिए जाने का संकेत भी दिया था. जियो समाचार की खबर के मुताबिक, कुरैशी ने मुल्तान में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा था, ‘हम प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व में आगे बढ़ने का प्रयास करेंगे. मुल्क को तैयार रहना चाहिए, क्योंकि हम कुछ सख्त फैसले लेने जा रहे हैं.’

In this article