ख़बरें बदलते भारत की

FifaWorldCup2018: सर्वश्रेष्ठ मैच साबित हो सकता है यह सेमीफाइनल

156
156

फुटबॉल विश्व कप के पहले सेमीफाइनल में मंगलवार को फ्रांस और बेल्जियम की टीमें आमने-सामने होंगी। विश्व कप में दोनों टीमों की यह तीसरी भिड़ंत है। इससे पहले हुए दोनों मुकाबले फ्रांस जीतने में सफल रहा था। अंतरराष्ट्रीय मैचों की बात करें तो 3 साल बाद दोनों टीमें एक दूसरे के खिलाफ मैदान में उतरेंगी। सात जून, 2015 को स्टेड डि फ्रांस में खेले गए प्रदर्शनी मैच में बेल्जियम ने 4-3 से जीत दर्ज की थी। फ्रांस 2006 के बाद पहली बार विश्व कप सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रहा है। वहीं, बेल्जियम 1986 के बाद पहली बार आखिरी जगह में जगह बना सका है।

बेल्जियम और फ्रांस के बीच पहला मुकाबला मई 1904 में ब्रसेल्स में हुआ था। वह मुकाबला ड्रॉ रहा था। तब से अब तक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दोनों 73 बार एक दूसरे के खिलाफ मैदान में उतर चुके हैं। इनमें बेल्जियम 30 और फ्रांस 24 बार जीतने में सफल रहा है। 19 मुकाबले ड्रॉ पर छूटे हैं। दोनों टीमें एक दूसरे के खिलाफ 3 बार किसी अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के फाइनल में आमने-सामने रहीं। तीनों में फ्रांस ने जीत दर्ज की।

विश्व कप में बेल्जियम का अब तक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन:इस विश्व कप में बेल्जियम ने अब तक 5 मैच खेले हैं। इनमें से उसने हर मैच में जीत हासिल की है। किसी एक विश्व कप में कभी भी वह लगातार इतने मैच नहीं जीत सका था। बेल्जियम की ओर से उसके नौ खिलाड़ी अब तक गोल कर चुके हैं। सबसे ज्यादा गोल करने के मामले में भी वह शीर्ष पर है। फ्रांस छठी बार सेमीफाइनल में पहुंचा है। इसके पहले वह 1958, 1982, 1986, 1998 और 2006 में भी आखिरी 4 में जगह बना चुका है। फ्रांस ने 1982 में भी 10 जुलाई को विश्व कप में खेलने उतरे था। तब उसने पोलैंड को 3-2 से हरा दिया था। इस सेमीफाइनल में भी सभी की नजर बेल्जियम के गोलकीपर थिबौत कोर्टियस और फ्रांस के हुगो लोरिस पर होंगी।

एम्बाप्पे, पवार्ड और हर्नांडेज पर नजर:फ्रांस को यहां तक पहुंचाने में उसके 19 साल के फारवर्ड किलियन एम्बाप्पे की अहम भूमिका रही है। बेंजामिन पवार्ड और लुकास हर्नांडेज की अनुभवहीन अटैकिंग फुटबैक जोड़ी ने भी शानदार प्रदर्शन किया है। 22 साल के इन दोनों खिलाड़ियों को सिर्फ 10-10 अंतरराष्ट्रीय मैचों में खेलने का अनुभव है। हालांकि उसके ओलिवर गिरोड विश्व कप में अब तक गोल करने में नाकाम रहे हैं, लेकिन गेंद को कब्जे में रखने की उनकी क्षमता से टीम को फायदा मिल रहा है। गिरोड को फ्रांस के दिग्गज जिनेडिन जिडान को पीछे छोड़ने के लिए एक गोल की जरूरत है। दोनों फिलहाल फ्रांस की ओर से टॉप स्कोरर की सूची में 31 गोल के साथ संयुक्त रूप से चौथे स्थान पर हैं। थिएरे हेनरी 51 गोल के साथ शीर्ष पर हैं।
फ्रांस के लिए बेल्जियम को रोकने की चुनौती:बेल्जियम के कोच रोबर्टो मार्टिनेज के कार्यकाल की शुरुआत स्पेन के खिलाफ घरेलू मैदान पर 0-2 की हार के साथ हुई। उसके बाद से बेल्जियम 24 मैचों से अजेय है। इस दौरान उसने 23 मैच में 78 गोल किए। सिर्फ एक मैच में टीम गोल नहीं कर पाई। फ्रांस के पूर्व स्ट्राइकर थिएरे हेनरी बेल्जियम के सहायक कोच हैं। बेल्जियम को डिफेंडर थॉमस मैनुएर की गैरमौजूदगी से निपटना होगा। उन्होंने दोनों छोर से बेल्जियम के आक्रमण में अहम भूमिका निभाई है। ब्राजील के नेमार को गिराने के लिए मैनुएर को टूर्नामेंट का दूसरा यलो कार्ड दिखाया गया था। इस कारण वे सेमीफाइनल मुकाबले में नहीं खेल पाएंगे। बेल्जियम को स्टार फारवर्ड एडन हेजार्ड से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी जिन्होंने अब तक अपनी तेजी से सबको प्रभावित किया है।

टीमें (संभावित):
फ्रांसःहुगो लोरिस, लुकास हर्नांडेज, सैम्युल उम्तेती, रफाएल वारने, बेंजामिन पवार्ड, एंजोलो कांटे, पॉल पोग्बा, ब्लेस मैतुदी, एंटोनी ग्रीजमैन, किलियन एम्बाप्पे, ओलिवर गिरोड।
बेल्जियमः थिबौत कोर्टियस, जैन वर्टोनघेन, विंसेंट कोम्पैनी, थॉमस वर्मेलेन, टॉबी एल्डरवायरल्ड, यान्निक करास्को, एक्सेल विटसेल, केविन डि ब्रूने, नेसर चाडली, एडन हेजार्ड, रोमेलु लुकाकू।

In this article