ख़बरें बदलते भारत की

देश खंडित जनादेश की तरफ बढ़ रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसके लिए जिम्मेदार हैं – शिवसेना सांसद, संजय राउत

83
83

बीजेपी (BJP) के सहयोगी दल शिवसेना (Shiv Sena) के सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने रविवार को दावा किया कि देश ‘खंडित जनादेश’ की तरफ बढ़ रहा है और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ऐसी स्थिति का ‘इंतजार’ कर रहे हैं. शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ के कार्यकारी संपादक राउत ने अखबार में अपने रविवारी आलेख में लिखा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) का कद घटा है जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का कद बढ़ा है. राउत ने कहा, ‘देश खंडित जनादेश की तरफ बढ़ रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसके लिए जिम्मेदार हैं.’ उन्होंने कहा कि 2014 में मोदी को मिला पूर्ण बहुमत ‘बर्बाद गए मौके’ की तरह था. राउत ने लिखा था कि 2014 में मोदी के समर्थन में लहर थी, क्योंकि वोटरों ने तय कर लिया था कि कांग्रेस को हराना है, लेकिन ‘आज तस्वीर बदल गई है.’

शिवसेना सांसद ने कहा, ‘मोदी की छवि अब फीकी पड़ गई है. राहुल गांधी  का नेतृत्व मोदी के जितना बड़ा नहीं है, लेकिन उसे अब अहमियत मिल रही है क्योंकि लोग मौजूदा सरकार से निराश हैं.’ राउत ने कहा, ‘भाजपा के कई वरिष्ठ नेता आगामी चुनावों में पार्टी के संभावित खराब प्रदर्शन को लेकर चिंतित हैं, लेकिन नितिन गडकरी के बयान इस बात के संकेत हैं कि हवा किस तरफ बह रही है. गडकरी जैसे नेता की आरएसएस और भाजपा नेताओं के बीच बराबर स्वीकार्यता है.’ उन्होंने दावा किया कि गडकरी को भाजपा अध्यक्ष के तौर पर दूसरा कार्यकाल नहीं मिले, इसके लिए ‘राजनीतिक साजिशें’ रची गईं थीं.

गौरतलब है कि इससे पहले बीजेपी के दिग्गज नेता संघप्रिय गौतम ने कहा कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को डेप्युटी पीएम बना देना चाहिए और गृहमंत्री राजनाथ सिंह को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाना चाहिए. संघप्रिय गौतम ने साथ ही  कहा कि अमित शाह को राज्यसभा में कमान संभालनी चाहिए, जबकि राष्ट्रीय अध्यक्ष की बागडोर शिवराज सिंह चौहान को सौंपी जानी चाहिए. इस बदलाव से बीजेपी कार्यकर्ताओं में विश्वास बढ़ेगा.

In this article