ख़बरें बदलते भारत की

दिव्या स्पंदना उर्फ राम्या ने कांग्रेस के सोशल मीडिया हेड के पद से दिया इस्तीफा

100
100

चार राज्यों में चुनाव सहित लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी कांग्रेस के लिए अच्छी खबर नहीं है. कांग्रेस की सोशल मीडिया हेड दिव्या स्पंदना (Divya Spandana) उर्फ राम्या (Ramya) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. सूत्रों की मानें तो हेड के तौर पर कांग्रेस की सोशल मीडिया रहीं दिव्या ने राहुल गांधी को अपना इस्तीफा भेजा है. बताया जा रहा है कि वह तीन दिन से दफ्तर नहीं गई हैं. सूत्रों की मानें तो कांग्रेस की आंतरकि कलह को इस इस्तीफे की वजह मानी जा रही है. हालांकि, अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है.सूत्रों की मानें तो न तो दिव्या स्पंदना तीन दिन से दफ्तर गई हैं, और न ही तीन दिन से कोई ट्वीट किया है. बताया जा रहा है कि मारग्रेट अल्वा के बेटे निखिल अल्वा कुछ दिनों से कांग्रेस के सोशल मीडिया संभाल रहे हैं. इतना ही नहीं, Divya Spandana ने अपने ट्विटर बायो से भी सोशल मीडिया, AICC को हटा लिया है. जैसे ही मीडिया में दिव्या के इस्तीफे की खबर फैली, उन्होंने फिर से अपने ट्विटर बायो को अपडेट किया. अपने ट्विटर बायो में उन्होंने फिर लिखा- अभी वह कांग्रेस की सोशल मीडिया को संभाल रही हैं और इसे वह इन्जॉए कर रही हैं. दिव्या उस वक्त भी सुर्खियों में आई थीं जब उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक ट्वीट किया था. इस ट्वीट को लेकर कांग्रेस की सोशल मीडिया प्रमुख दिव्या स्पंदना के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज हुआ था. हालांकि, बाद में फिर से उन्होंने एक और ट्वीट किया था. दरअसल, दिव्या स्पंदना ने पीएम मोदी को चोर बताया था.

इससे पहले दिव्या स्पंदना के खिलाफ गोमतीनगर थाने में आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया. वकील सैयद रिजवान अहमद द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर में कहा गया है कि स्पंदना ने ट्वीट में प्रधानमंत्री के बारे में आपत्तिजनक बात कही. अहमद ने शिकायत में कहा कि इस ट्वीट के जरिए स्‍पंदना ने मोदी के खिलाफ नफरत भड़काने का काम किया है.

गौरतलब है कि बीते दिनों बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुरेश कुमार ने बेंगलुरु के पुलिस कमिशनर सुनील कुमार से मिलकर कांग्रेस की सोशल मीडिया सेल की संयोजक दिव्या स्पंदना उर्फ राम्या के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था. आरोप था कि एक वीडियों में दिव्या स्पंदना पार्टी के लोगो को एक से ज्यादा एकाउंट खोलने के लिए कहती सुनी गई थीं.

In this article