ख़बरें बदलते भारत की

मैली चादर खुले में नहीं धोई जाती, मिलकर मुद्दे सुलझाएंगे – नवजोत सिंह सिद्धू

57
57

‘कैप्टन’ (Captain) वाले बयान पर घिरते नजर आ रहे पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu)  पूरी तरह से बैकफुट पर अब नजर आ रहे हैं. वह बार-बार इस पर सफाई दे रहे हैं. राजस्थान के झालावाड़ में उन्होंने चुनाव प्रचार से इतर कहा, मैली चादर खुले में नहीं धोई जाती, वह (कैप्टन अमरिंदर) पिता समान हैं, मैं उनको प्यार और सम्मान करता हूं, मिलकर मुद्दे सुलझाएंगे’. इसके पहले सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने भी कहा है कि सिद्दू जी के बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया जा रहा है. हालांकि उनके बयान को लेकर पंजाब सरकार में शामिल मंत्रियों का विरोध बढ़ता जा रहा है. लुधियाना में तो उनके बयान के खिलाफ पोस्टर भी लगा दिए हैं. दरअसल पाकिस्तान की यात्रा से वापस लौटे पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा था, मेरे कैप्टन राहुल गांधी हैं, आप किस कैप्टन की बात कर रहे हैं’. उनके इस बयान को उनके साथी मंत्रियों ने आड़े हाथों ले लिया और इस्तीफे की मांग कर दी. सिद्धू के बार-बार सफाई देने के बाद भी उनके खिलाफ विरोध शांत नहीं हो रहा है. वहीं खबर मिल रही है कि कांग्रेस आलकमान की ओर से सिद्धू को नसीहत दी गई है कैप्टन के खिलाफ कुछ भी न बोलें हैं. वह ‘बॉस’ हैं. माना जा रहा है कि इसके बाद से ही सिद्धू की ओर से यह सफाई आई है. दूसरी ओर 3 दिसंबर को होने वाली पंजाब कैबिनेट की बैठक में भी सिद्धू के शामिल न होने की भी बात सामने आ रही है.

हालांकि यह पहला मौका नहीं है कि सिद्धू और पंजाब के दूसरे कांग्रेसी नेताओं के बीच मतभेद या विवाद न हुआ है. बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए नवजोत सिंह सिद्धू को पहले तो कैप्टन अमरिंदर सिंह की कैबिनेट में शामिल होने पर भी काफी बहस हुई थी. उसके बाद उनको कॉमेडी शो से भी जुड़े रहने पर विवाद हुआ. और पंजाब सरकार के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंद सिंह से भी सिद्धू की पटरी नहीं खाने की खबरें आती ही हैं. हाल ही में उनकी पाकिस्तान यात्रा के फैसले पर भी कैप्टन अमरिंदर ने विचार करने के लिए कहा था. खुद कैप्टन अमरिंदर ने पाकिस्तान जाने से मना कर दिया था.

In this article