ख़बरें बदलते भारत की

सीरिया: रूस के हवाई हमले में 68 की मौत

180
180

सीरिया में दमिश्क के पास विद्रोहियों के कब्जे वाले शहर पर सेना और रूसी हवाई हमले में कम से कम 46 लोगों की मौत हो गई, जबकि उत्तरी सीरिया में कुर्द के कब्जा वाले शहर पर हमले में कम से कम 22 लोग मारे गए. कुल मिलाकर कम से कम 68 नागरिक मारे गए. सीरिया में सात वर्षों से गृह युद्ध छिड़ा हुआ है. जंग पर नजर रखने वाले संगठन ‘सीरियन ऑब्जरवेटरी फोर ह्यूमन राइट्स’ ने कहा है कि दमिश्क के पास विद्रोहियों के कब्जा वाले पूर्वी घौटा में सीरियाई और रूसी विमानों ने कफ्र बाटना में बमबारी की.

कफ्र बाटना में डॉक्टरों ने बताया कि कई घायलों का इलाज किया जा रहा है. रूसी रक्षा मंत्रालय ने बताया कि 16 मार्च को करीब 5000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया और इससे पहले 10,000 लोगों को वहां से निकाला गया था.

इससे पहले सीरिया के उप विदेश मंत्री फैजल मेकदाद ने इस बात से इनकार किया था कि उनकी सरकार के पास रासायनिक हथियार या क्लोरीन गैस है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, विदेश मंत्रालय ने दमिश्क के पूर्वी गोता में विद्रोहियों के खिलाफ लड़ाई में क्लोरीन गैस का इस्तेमाल करने के हालिया आरोपों को 10 मार्च को खारिज करते हुए सरकार के रुख को दोहराया. उन्होंने कहा था, “हम क्लोरीन गैस सहित किसी भी रासायनिक हथियार की मौजूदगी से पूरी तरह इनकार करते हैं और हम किसी भी स्थिति में ऐसे हथियारों के इस्तेमाल की निंदा करते हैं. हमें लगता है कि दुनिया के किसी भी देश के पास सीरिया को धमकाने या उसके खिलाफ अपने हथियारों का इस्तेमाल करने के लिए कोई कारण नहीं है.”

In this article