ख़बरें बदलते भारत की

हर मैच के बाद अपना गियर बदलती है CSK, नए रिकॉर्ड आए सामने

274
274

सीएसके के लिए आईपीएल 2018 का सीज़न काफी अच्छा रहा है। इस बार सीएसके 11 एडिशन में सातवीं बार फाइनल में पहुंचने में कामयाब हो गई है। इसका सबसे ज्यादा श्रेय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को जाता है। यह धोनी की मोजुदगी ही है जो टीम को दो बार खिताब मिला है। एक बार जब उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल से बैन हो गई थी। उस समय धोनी को टीम का जायंट कप्तान बनया गया था। इसके बाद नई टीम के आईपीएल में एंट्री के बाद टीम सबसे आगे पहुँचने में आगे रही।

बता दें अब सीएसके से जुड़े अहम आंकड़ें सामने आए हैैं जिससे पता चलता है कि आखिर हारता हुआ मैच सीएसके कैसे जीत जाती है। इस सीजन में मुंबई, कोलकाता, आरसीबी और फिर क्वालिफायर में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ सीएसके एक समय हारने की कागार पर भी लेकिन आखिरी ओवरों में सीएसके के बल्लेबाज ऐसे गेयर शिफ्ट करते हैं कि वह हारा हुआ मैच अपनी टीम की झोली डाल देते हैं। साथ ही मुंबई इंडियंस और सीएसके के बीच मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम खेले गए मैच लक्ष्य का पीछा करने उतरी सीएसके को आखिरी 17 गेंदों में जीत के लिए 47 रन चाहिए था लेकिन चेन्नई के पुछल्ले बल्लेबाजों ने शानदार बैटिंग कर अपनी टीम को जीता दिया। इसी तरह केकेआर के खिलाफ 17 गेंद में 41, आरसीके खिलाफ 16 गेंदों में 44 तो अब क्वालिफायर में 13 गेंदों में 43 रन बनाकर सीएसके के बल्लेबाजों ने साबित कर दिया वह किसी भी मुश्किल हालतों से टीम के लिए जीत निकाल सकते हैं।

In this article