ख़बरें बदलते भारत की

टीम इंडिया ने 10 विकेट से जीता दूसरा टेस्ट, वेस्टइंडीज का 2-0 से किया क्लीन स्वीप

292
292

टीम इंडिया ने हैदराबाद के दूसरे टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज को 10 विकेट से मात देकर सीरीज 2-0 से अपने नाम कर ली। मैच के तीसरे दिन वेस्टइंडीज की दूसरी पारी महज 127 रन पर सिमट गई। पहली पारी में 56 रन की बढ़त पाने वाली टीम इंडिया को जीत के लिए 72 रन चाहिए थे, जिसे सलामी बल्लेबाजों ने बिना कोई विकेट गंवाए हासिल कर लिया। पृथ्वी को शॉ को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।

इसी के साथ टीम इंडिया ने घरेलू मैदानों पर लगातार 10 मैच जीतने के मामले में ऑस्ट्रेलिया की बराबरी कर ली है। केएल राहुल (33) और पृथ्वी शॉ (33) रन पर नाबाद रहे। इससे पहले टीम ने राजकोट में ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी। टीम इंडिया ने साल 2013 से घरेलू मैदान पर कोई टेस्ट मैच नहीं हारा है।

इससे पहले पहली पारी में 56 रनों से पिछड़ने के बाद इंडीज की दूसरी पारी का आगाज खराब रहा जब उमेश यादव ने क्रेग ब्रैथवेट को विकेटकीपर पंत के हाथों झिलवाया। अश्विन ने इसके बाद कीरोन पॉवेल को स्लिप में रहाणे के हाथों झिलवाया। वेस्टइंंडीज को तीसरा झटका कुलदीप यादव ने दिया। उन्होंने शिमरोन हेटमेयर (17) को पुजारा के हाथों झिलवाया। सीरीज में तीन पारियों में तीसरी बार हेटमायर कुलदीप की फिरकी में फंसकर पवेलियन लौट गए।अगले ही ओवर में रहाणे ने रवींद्र जडेजा की गेंद पर शाई होप (28) का कैच लपका। वेस्टइंडीज की टीम को सातवां झटका कप्तान होल्डर के रूप में लगा। रविंद्र जडेजा की बाहर जाती गेंद बल्ले का किनारा लेते हुए विकेटकीपर ऋषभ पंत के दस्तानों में समा गई।

इसके बाद सुनील अंबरीश (38) रविंद्र जडेजा की गेंद पर आउट होकर पवेलियन लौट गए। वेस्टइंडीज की टीम का 9वां झटका जोमेल वॉरीकेन (7) के रूप में लगा। उन्हें अश्विन ने क्लीन बोल्ड कर पवेलियन भेजा। तेज गेंदबाज उमेश यादव ने शैनन गैब्रियल को आउट कर वेस्टइंडीज को 127 रन पर रोक दिया। इसके बाद पहली पारी में 56 रन की बढ़त पाने वाली टीम इंडिया को जीत के लिए 72 रन की दरकार थी, जिसे ओपनर बल्लेबाजों ने आसानी से हासिल कर लिया।

In this article